FROM THE PRINCIPAL'S DESK
PRINCIPAL'S DESK - INDIRA GANDHI GOVT ARTS & COMMERCE COLLEGE, VAISHALI NAGAR, BHILAI

महाविद्यालय का सुव्यवस्थित संचालन -

शासन की मंशा के अनुरूप चूंकि प्राचार्य प्रशासनिक प्रमुख होने के अलावा मूलतः शिक्षक होता है अतः उसे स्वयं कक्षाएं लेकर पठन-पाठनको प्रोत्साहित करना चाहिए। हमने लगातार बखूबी यही कार्य किया। कला, विज्ञान, गृह विज्ञान और वाणिज्य में पर्यावरण तथा कला स्नातक प्रथम, द्वितीय और तृतीय कक्षाओं में संस्कृत का अध्यापन किया। चूँकि युवाशक्ति कक्षाओं के अंदर ऊर्जा के रचनात्मक उपयोग में व्यस्त रही, इसलिए कॉलेज परिसर में अनुशासनहीनता नहीं फाटक पायी। प्राचार्य द्वारा शैक्षणिक स्टाफ के समक्ष समय पर आने, पूरे समय तक कॉलेज में रहने तथा स्वयं कक्षाएं भी लेने से जो उदाहरण प्रस्तुत किये, उनसे यह तथ्य पुनः उभर कर सामने आये कि कक्षाएं नियमित ठीक से चलें तो अन्य समस्यायें या अव्यवस्थायें स्वतः समाप्त हो जाती है। संस्था के सुव्यवस्थित संचालन में यह प्रक्रिया बड़ी सहायक सिद्ध हुई है। पूरे स्टाफ के सहयोग से सकारात्मक वातावरण बना है।...

Read More

INDIRA GANDHI GOVT ARTS & COMMERCE COLLEGE, VAISHALI NAGAR, BHILAI
INTRODUCTIONS - INDIRA GANDHI GOVT ARTS & COMMERCE COLLEGE, VAISHALI NAGAR, BHILAI

वैशालीनगर व आसपास के क्षेत्र के विद्यार्थियों को उच्चशिक्षा हेतु क्षेत्र में बढ़ती हुई आवश्यकताओं को देखते हुए वैशालीनगर भिलाई में शासकीय महाविद्यालय की स्थापना 12/7/1989 को की गई है।

वर्तमान में लगभग 11 एकड़ जमीन पर स्वनिर्मित भवन में चारों संकायों कला, वाणिज्य, विज्ञान तथा गृह विज्ञान में स्नातक स्तर पर अध्ययन अध्यापन का कार्य सुचारु रूप से संचालित हो रहा है। महाविद्यालय में कुल प्रायः एक हज़ार छात्र-छात्राएँ अध्ययन कर अपने उच्च शिक्षा के सपनों को साकार कर रहे हैं। यह महाविद्यालय हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग से समबद्ध है।
Read More

32

YEARS OF EXCELLENCE

23

OUR TEACHERS

2000

HAPPY STUDENTS

4

OUR COURSES

Copyright 2020 INDIRA GANDHI GOVT ARTS & COMMERCE COLLEGE, VAISHALI NAGAR, BHILAI |
Powered By: Ravi Solutions